New rules From 1 January 2022

New rules From 1 January 2022

नया साल आपके जीवन में कई बदलाव लेकर आए  है, जो आपके लिए जानना जरूरी है। दरअसल, जनवरी 2022 से आम आदमी के दैनिक जीवन से जुड़े कई नियमों में बदलाव आया:  है। इन नियमों में एटीएम से पैसे निकालने और बैंक से पैसे निकालने से लेकर जमा करने तक से जुड़े नियम शामिल हैं. आइए एक नजर डालते हैं इन बदलावों पर।

ATM से पैसा निकालना महंगा

भारतीय रिजर्व बैंक ने एटीएम से पैसे निकालने के नियमों में बदलाव किया है। अब एटीएम से पैसे निकालने वालों को ज्यादा चार्ज देना होगा। पहले बैंक ग्राहकों से हर ट्रांजैक्शन पर 20 रुपये चार्ज करते थे, जिसमें टैक्स शामिल नहीं था। आरबीआई के नए नियमों के मुताबिक अब बैंक को अपने ग्राहकों से 21 रुपये चार्ज करने की आजादी मिल गई है। इस तरह 1 जनवरी से एटीएम से पैसे निकालना महंगा हो जाएगा।

GST

एक जनवरी से जीएसटी का गलत रिटर्न भरना करना होगा महंगा अब गलत जीएसटी रिटर्न भरना करने वाले व्यापारियों से वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) का जुर्माना लगेगा। अक्सर, अधिकारियों को शिकायत मिलती है कि मासिक GSTR-1 फॉर्म में अधिक बिक्री दिखाने वाले व्यापारी कर देयता को कम करने के लिए भुगतान से संबंधित GSTR-3B फॉर्म में इसकी कम रिपोर्ट करते हैं। ऐसा करने वाले व्यापारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

ऑनलाइन खाना

अगर आप इंटरनेट मंगवा कर खाते हैं तो आपको इंटरनेट पर ज्यादा खर्च करना पड़ेगा। ऑनलाइन पेमेंट एप स्विगी और मैट से खाना ऑर्डर करने के लिए ग्राहकों को ज्यादा भुगतान करना होगा। विशेष रूप से उन्नत समय पर 5% ऐसे नए साल में इन ऐप्स से ऑनलाइन पैसा खर्च करने के लिए पैसा खर्च करना होगा।

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के नए चार्ज

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक भी ग्राहकों से अब ज्यादा पैसा वसूल करने जा रहा है। नए नियमों के अनुसार नए साल से आईपीपीबी ग्राहकों से लिमिट से ज्यादा केस निकलने वाले या जमा करवाने के लिए चार्ज वसूल करेगा। हालांकि सेविंग और करंट अकाउंट में बिना चार्ज के महीने में 10000 ही जमा करा पाएंगे। अगर इस रकम से ज्यादा जमा कराते हैं तो ग्राहकों को एक्स्ट्रा पैसे देने पड़ेगे।

महंगी हो जाएंगी कारें

देश की करीब 10 ऑटो कंपनियां इसी महीने अपनी कारों के अलग-अलग मॉडल की कीमतों में बढ़ोतरी करने जा रही हैं। 1 जनवरी से मारुति, फॉक्सवैगन और वॉल्वो की गाड़ियां महंगी हो जाएंगी। टाटा, टोयोटा और होंडा की भी कीमतें बढ़ाने की योजना है। कोरोना महामारी के कारण इस साल ऑटोमोबाइल कंपनियों को भारी नुकसान हुआ है। मैन्युफैक्चरिंग व्हीकल्स की लागत बढ़ने के कारण कंपनियां भी अपनी कारों की कीमतों में लगातार इजाफा कर रही हैं।

लॉकर से भुगतान

लॉकर से छेड़छाड़ के लिए बैंक जिम्मेदार होंगे। बैंक कर्मी की धोखाधड़ी, आग लगने या चोरी होने की स्थिति में, बैंक लॉकर के मौजूदा वार्षिक किराये का 100 गुना तक भुगतान ग्राहक को करेगा। यह नियम प्राकृतिक आपदाओं से हुए नुकसान पर लागू नहीं होगा। रिजर्व बैंक इंडिया (RBI) का सेफ डिपॉजिट लॉकर के संबंध में संशोधित दिशानिर्देश जारी किया है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!