प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना 2021-2022

प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना 2021-2022

प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना:- देश के हर गाँव को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ने के उद्देश्य से यह प्रोजेक्ट शुरू हुआ है. गाँव के लोगों को आगे बढ़ाने और और हर गाँव में इन्टरनेट की सभी सुविधा देना इसका लक्ष्य है. इस प्रोजेक्ट में गाँव के लोगों को भी ऑप्टिकल फाइबर द्वारा तेज और अच्छी स्पीड में इन्टरनेट मिलेगा. प्रधानमंत्री मोदी जी ने 74 वें स्वतंत्रता दिवस के अपने भाषण में बताया था कि 2014 तक सिर्फ 60 से 70 गाँव में ओतिकल फाइबर था, लेकिन अब पिछले पांच सालो में 1.5 लाख गाँव को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा जा चूका है. आने वाले समय में हर एक गाँव को डिजिटल इंडिया मूवमेंट से जोड़ा जायेगा. 

इस योजना के लिए हर गांव में CSC सेंटर के माध्यम से योजना को पूरा किया जाएगा प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना 2021-22

प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना 2020-21:- विशेषताएं

इन्टरनेट आज सबकी जरुरत, सबकी सुविधा का मुख्य जरिया बन गया है. शहरों, टाउन में तो इन्टरनेट आज बहुत तेजी से बढ़ रहा है, लेकिन इस सुविधा से गाँव वाले अभी भी अछूते है. गाँव के विकास और देश को डिजिटल इंडिया में और आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री जी घर तक फाइबर योजना की शुरुवात की गई है.

हर गाँव में तेज इन्टरनेट हो, इसे ब्रॉडबैंड से जोड़ा जाये इस उद्देश्य से यह योजना शुरू हुई है. घर तक फाइबर प्रोजेक्ट देश के हर गाँव में इन्टरनेट सुविधा पहुँचाने के लिए शुरू हुआ है.

  • प्रोजेक्ट का उद्देश्य क्या है,
  • प्रधानमंत्री ने घोषणा में क्या कहा,
  •  ये सभी जानकारी आपको यहाँ इस आर्टिकल में मिल जाएगी, कृपया आर्टिकल को अंत तक पढ़ें.
लांच हुई सितम्बर 2020
नाम प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना
विभाग इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय 
किकिसने लांच की   प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना क्या है

देश के हर गाँव को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ने के उद्देश्य से यह प्रोजेक्ट शुरू हुआ है. गाँव के लोगों को आगे बढ़ाने और और हर गाँव में इन्टरनेट की सभी सुविधा देना इसका लक्ष्य है. इस प्रोजेक्ट में गाँव के लोगों को भी ऑप्टिकल फाइबर द्वारा तेज और अच्छी स्पीड में इन्टरनेट मिलेगा. प्रधानमंत्री मोदी जी ने 74 वें स्वतंत्रता दिवस के अपने भाषण में बताया था कि 2014 तक सिर्फ 60 से 70 गाँव में ओतिकल फाइबर था, लेकिन अब पिछले पांच सालो में 1.5 लाख गाँव को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा जा चूका है. आने वाले समय में हर एक गाँव को डिजिटल इंडिया मूवमेंट से जोड़ा जायेगा.

प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना 2020-21:- विशेषताएं

पीएम ने इस मुहीम को घर तक फाइबर नाम दिया है, क्यूंकि यह गाँव-गाँव में लोगों को घर-घर हाई स्पीड इन्टरनेट सुविधा देगी.

योजना की शुरुवात अभी बिहार राज्य से हुई है पीएम ने बताया है कि बिहार का हर गाँव अब इन्टरनेट से जुड़ेगा, गाँव के लोग शहर के लोग से ज्यादा इन्टरनेट का इस्तेमाल कर सकेंगें.

डिजिटल इंडिया की शुरुवात पीएम द्वारा ही की गई थी. अब गाँव में सुख सुविधा बढ़ाने के लिए आने वाले 1000 दिन में देश का हर गाँव में ऑप्टिकल फाइबर होगा, जिससे वहां हाई स्पीड इन्टरनेट मिल सकेगा.

पीएम ने अपने भाषण में बताया कि दुनिया में भारत देश में सबसे अधिक ऑनलाइन ट्रांसेकशन होते है. ऐसे में गाँव में भी यह सुख सुविधा जल्द ही शुरू होनी चाहिए. गाँव के विकास के लिए जरुरी है कि वहां इन्टरनेट हो.

इन्टरनेट के बिना आजकल कोई काम नहीं होता है. गाँव के लोग गाँव में इस तरह की सुख सुविधा न होने की वजह से ही शहर की तरफ भागते है, जिससे शहर तो आगे बढ़ रहे है, लेकिन गाँव पीछे होते जा रहे है.

CSC CENTER  देंगें ऑप्टिकल फाइबर इन्टरनेट कनेक्टिविटी

पीएम का सपना है कि वे हर गाँव को इन्टरनेट से जोड़ सकें. इसके लिए सीएसी सेण्टर को चुना गया है जो गाँव-गाँव में फाइबर जोड़कर ब्रॉडबैंड इन्टरनेट कनेक्टिविटी देगा.

FTTH कनेक्टिविटी को 45 हजार के उपर गाँव में, 8900 पंचायतो से जोड़ा जायेगा.

सीएससी सेण्टर यहाँ स्पेशल पर्पज व्हीकल की भूमिका निभायेगें.

सीएससी सेण्टर जहाँ-जहाँ है, वहां अपने क्षेत्र में इस काम को अंजाम देगा.

जिन-जिन गाँव में अभी ऑप्टिकल फाइबर लग चूका है, वहां से सीएससी उड़े आगे दुसरे गाँव तक बढ़ाएगा.

बिहार में गाँव में ऑप्टिकल फाइबर जोड़ने का काम 21 सितम्बर से शुरू हो चूका है, सरकार ने इस काम को पूरा करने के लिए 100 दिन का समय दिया है.

प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना लाभ

जब गाँव-गाँव में इन्टरनेट सुविधा होगी तो गाँव का विकास होगा, गाँव का विकास मतलब देश का विकास, क्यूंकि भारत देश में अधिकतर जनता गाँव में रहती है.

इन्टरनेट ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी से हर गाँव में ई-कॉमर्स, ई-शिक्षा, ई-फार्मेसी, कॉल सेंटर, ऑनलाइन बैंकिंग, ऑनलाइन शोपिंग जैसे सुविधा शुरू हो सकेंगी.

किसान या छोटे उद्योगपति, नए उद्यमी अपने सामान को ऑनलाइन ई-हार्ट के द्वारा देश के हर कोने में बेच सकेंगें. जिससे उनकी आमदनी बढ़ेगी.

गाँव में इन्टरनेट सुविधा दुरुस्त होगी तो गाँव के उद्यमी के लिए रोजगार, नौकरी के नए अवसल खुलेंगें.

गाँव के लोगों को अब अपना घर, परिवार छोड़कर जॉब की तलाश में शहर की और नहीं भागना पड़ेगा, अपने क्षेत्र में ही रहकर वे पैसा कमा सकेंगें.

इन्टरनेट सुविधा आने से शिक्षा के क्षेत्र में भी गाँव का विकास होगा, गाँव वाले अब ऑनलाइन उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकेंगें.

सरकार द्वारा चलाई जा रही तरह तरह की योजना का लाभ अब गाँव निवासी इन्टरनेट के द्वारा एक क्लिक पर ही ले सकेंगें. उन्हें इसका लाभ लेने के लिए यहाँ वहां नहीं भटकना पड़ेगा.

सरकारी योजना की जानकारी अब इन्टरनेट के माध्यम से जल्द इ जल्द उन्हें मिल सकेगी.

गाँव में इन्टरनेट सुविधा होने से लड़कियों को बहुत लाभ होगा, वो अपने घर में रहकर ही रोजगार कर अपने पैरों पर खड़ी होकर परिवार को संभाल सकेंगी.

गाँव का विकास से देश का विकास संभव है. पीएम मोदी जी की इस मुहीम की हम सराहना करते है. उम्मीद करते है कि जल्द ही यह काम पूरा होगा और गाँव के सभी लोग इन्टरनेट का लाभ ले सकेंगें.

प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना रजिस्ट्रेशन

हाल ही में यह योजना बिहार में एक पायलट प्रोजेक्ट के रूप में आई हैं धीरे से पुरे देश में लागू की जाएगी जिसका नारा हर घर फाइबर के नाम से मशहूर भी हो रहा हैं . फाइबर योजना 2022 का बड़ा प्रोजेक्ट होगा जिसके लिए ऑफिसियल वेबसाइट भी लांच की जायेगी जिससे पंजीयन अथवा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पुरे होंगे . जिला हाल यह लोच नहीं हुई हैं

Read Also…

प्रधानमंत्री की सैलरी कितनी होती है:-

मुख्यमंत्री की सैलरी कितनी होती है:-

उपसरपंच की सैलरी कितनी होती है:-

उपराष्ट्रपति की सैलरी कितनी होती है:-

सरपंच की सैलरी कितनी होती है :-

वार्ड पंच सैलरी 2022:-

ग्राम पंचायत बजट लिस्ट कैसे देखें:-

PM Gramin Awas Yojana 2022 :-

 

गाड़ी नंबर से मालिक का नाम कैसे पता करे :-

आपके आधार कार्ड के नाम पर कितने सिम चल रहे हैं :-

Gram Sevak Salary in Rajasthan :-

E-Shram Card Yojana Registration 2022 सभी लोगों को मिल रहे हैं ₹1000 प्रतिमाह :-

Rajasthan Berojgari Bhatta 2022:-

Rajasthan Board Duplicate Marksheet:-

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 2022 :-

Rajasthan Kisan Karj Mafi Yojana 2022:-

प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना:-

Rscit free course for female 2021-2022:-

 

 

10 thoughts on “प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना 2021-2022”

Leave a Comment

error: Content is protected !!